SEO क्या है और कैसे करें 1-1 स्टेप में समझें -What is SEO in Hindi

SEO क्या है और इसे कैसे करें ताकि आपकी वेबसाइट भी गूगल सर्च में फर्स्ट पेज पर आये। जितने भी ब्लॉगर या SEO एक्सपर्ट हैं वो अपनी वेबसाइट को गूगल सर्च में टॉप पर लाना चाहते हैं, लेकिन कितना भी बड़ा और अच्छा आर्टिकल लिखने के बाद भी जब वो उसे पोस्ट करते हैं तो वो पहले पेज तो क्या टॉप 10 पेज में भी नहीं दिखता। इस वजह से उन्हें निराशा हाथ लगती है।  

आज की इस इंटरनेट के दुनिया में अगर कोई व्यक्ति अपनी बात लाखों लोगों तक एक साथ पहुँचाना चाहता है तो उसका सबसे अच्छा माध्यम है ब्लॉग लिखना, वीडियो बनाना आदि। लेकिन आपकी बात उन लाखों लोगों तक पहुंचे उसकी लिए जरुरी है कि आपकी वेबसाइट google search में फर्स्ट पेज पर आये। 

गूगल के फर्स्ट पेज पर आने वाली वेबसाइट को सबसे ज्यादा लोग खोलते हैं और उन्ही पर सबसे ज्यादा भरोसा भी किया जाता है। ये सब कुछ किया जा सकता है एक अच्छे SEO के माध्यम से। इसलिए आज हम आपको SEO क्या है (What is SEO in Hindi) और इसे कैसे करें इन बातों की जानकारी बहुत विस्तार से देने वाले हैं। 

SEO एक्सपर्ट बनने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें, किसी भी बात को लेकर डाउट आये तो कमेंट करें हमारी टीम आपको जवाब जरूर देगी। 

Table of Contents

What is SEO in Hindi (SEO क्या है)

इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करने करने के लिए बहुत सारे सर्च इंजन उपलब्ध हैं जैसे – Google, Microsoft का Bing, Yahoo आदि। जब भी कोई यूजर इन पर जाकर कुछ भी सर्च करता है तो उसे कुछ ही सेकण्ड्स में लाखों पेज की लिंक मिल जाती है। इसमें जो वेबसाइट की लिंक फर्स्ट पेज पर रैंक करती है उसे यूजर ओपन कर लेता है, और जानकारी उसे मिल जाती है। 

SEO का काम है कि वो वेबसाइट को इस लायक बनाये कि यदि कोई भी उससे जुड़ा कीवर्ड सर्च करे तो पहले पेज पर उस वेबसाइट का नाम आये। दूसरे शब्दों में इसे ऐसे समझिये कि SEO (Search Engine Optimization) वेबसाइट को कुछ इस तरह से ऑप्टिमाइज़ करता है कि वो वेबसाइट SERP (Search engine result page) में टॉप पर दिखने लग जाती है। 

SEO क्या है

पूरी दुनिया में सबसे बड़ा सर्च इंजन Google है। SEO हमारे द्वारा लिखे गए कंटेंट को google में no 1 पर दिखने के लिए कोशिश करता है। जितना अच्छा SEO उतने ही अच्छे चांस होते हैं कि आपकी वेबसाइट फर्स्ट पेज पर रैंक करे। लेकिन SEO के साथ साथ आपका कंटेंट भी बहुत अच्छा लिखा होना चाहिए जिसमे कीवर्ड को अच्छे से मिक्स होना चाहिए।

अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का SEO बहुत अच्छा होगा तो आपके पास visitors भी बहुत आएंगे। यही वो तरीका भी बन जायेगा कि आप अपने लिखे गए कंटेंट से पैसे भी कमा पाएंगे। इसे ही Blogging कहते हैं।

वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाने के बहुत से तरीके होते हैं। facebook, instagram, youtube जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लिंक शेयर करके भी ट्रैफिक आ सकता है। लेकिन गूगल इसे organic traffic नहीं मानता। organic का मतलब होता है कि गूगल पर डायरेक्ट सर्च करने पर आपकी वेबसाइट सामने दिखे और कोई उसे ओपन कर ले। SEO Organic Traffic लाने में आपकी मदद करता है। 

SEO का फुल फॉर्म क्या है? (Full Form of SEO)

SEO का फुल फॉर्म ‘Search Engine Optimization’ होता है। इसे हिंदी में इस तरह से भी लिख सकते हैं सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन। 

SEO का इम्पोर्टेंस क्या है ?

अभी तक आप ये समझ गए होंगे कि SEO क्या है। अब समय है ये जानने का कि किसी वेबसाइट, ब्लॉग, यूट्यूब आदि के लिए इसकी क्या इम्पोर्टेंस है, और इसकी जरूरत क्यों पड़ी।

जब आप अपनी website पर कंटेंट पोस्ट करते हैं तो अपने देखा होगा कि भले ही वो कितना भी high quality content क्यों न हो लेकिन Google Search में कहीं भी दिखाई नहीं देता। उसका कारण है SEO का न किया जाना। 

दरअसल होता ये है कि आप जो keyword अपने blog में यूज़ करते हैं उसे SEO ही गूगल को बताता है की इस article में इस keyword पर कंटेंट लिखा गया है, और फिर आपका ब्लॉग सर्च करने पर टॉप पर दिखने लग जायेगा। लेकिन यदि SEO ही नहीं होगा तो आपकी मेहनत किसी भी काम की नहीं होगी। 

जैसे अगर हमारा कीवर्ड है – SEO Kya hai तो गूगल इसी से मिलता जुलता रिजल्ट टॉप पर दिखायेगा।   

SEO को समझने के लिए आपको समय देना पड़ेगा और उसे लगातार अपनी Website पर इम्प्लीमेंट करते रहना होगा। जब आप लगातार अपनी Blog Post और Pages को SEO के माध्यम से ऑप्टिमाइज़ करते रहेंगे तो एक समय बाद आपको रिजल्ट दिखना शुरू हो जायेगा। 

Type of SEO in Hindi (SEO कितने प्रकार का होता है)

SEO मुख्यतः 3 प्रकार का होता है, On Page SEO, Off Page SEO & Technical SEO. लेकिन आजकल एक और टाइप का SEO होता है जिसे Voice Search SEO कहा जाता है। इसलिए कुल मिलाकर 4 टाइप का SEO होता है। इन सभी की वर्किंग प्रोसेस अलग है लेकिन इनका लक्ष्य सिर्फ एक है और वो है हमारे लिखे गए आर्टिकल को Google Search में टॉप पर रैंक कराना। 

  • On Page SEO
  • Off Page SEO
  • Technical SEO
  • Voice Search SEO

एक और टाइप का SEO होता है जिसे LOCAL SEO कहते हैं ये उनके लिए ज्यादा जरुरी होता है जो अपने एक Specific Area में सर्च को इम्प्रूव करना चाहते हैं। लेकिन एक ब्रॉड लेवल पर ऑनलाइन प्रजेंस बढ़ाने के लिए ऊपर बताये 4 तरीके ही यूज़ में आते हैं। 

इन सभी 4 प्रकार को आसानी से समझने के नीचे जरूर पढ़ें। 

On Page SEO क्या है 

On Page SEO का डायरेक्ट कनेक्शन आपकी इंटरनल वेबसाइट से होता है। आपकी वेबसाइट में जितने Pages हैं, जितने भी Blog Post आप लिखते हैं उन्हें ऑप्टिमाइज़ करना। ये सभी On Page SEO का पार्ट है। 

इस तरह के seo में कंटेंट को हर तरह से ऑप्टिमाइज़ किया जाता है। Title, Meta Description में keyword को प्रॉपर इन्सर्ट करना। कंटेंट लिखते समय उसमे कीवर्ड का प्रॉपर यूज़ करना ये सभी इसके इम्पोर्टेन्ट पार्ट है।

On Page SEO करने का सही तरीका

On Page SEO करने के कुछ बहुत जरूरी तरीके हम आपको बताने वाले हैं, इनको फॉलो करके आप अपनी Website का On Page SEO आसानी से कर पाएंगे। 

Website Speed अच्छी होना 

Website को रैंक कराने के लिए speed एक बहुत बड़ा फैक्टर है। अगर आपकी साइट 5-6 सेकण्ड्स में पूरी लोड हो जाती है तो उसकी स्पीड को अच्छा माना जाता है। लेकिन इससे ज्यादा समय होने पर हो सकता है user आपकी वेबसाइट को छोड़कर चला जाए। ऐसा होने पर आपकी वेबसाइट का Bounce Rate बढ़ जाता है जिससे वेबसाइट की Ranking कम हो जाती है। 

आपने खुद इस चीज़ को देखा होगा कि अगर कोई पेज ओपन नहीं हो रहा तो आप उसे छोड़कर दूसरे किसी वेबसाइट पर शिफ्ट हो जाते हैं। और इसी से Google समझ जाता है और आपके Blog को रैंक नहीं होने देता। कुछ ऐसे तरीके हैं जिनसे आपकी website की स्पीड अच्छी हो सकती है, इसके लिए इन टिप्स को जरूर अप्लाई करें। 

  • अगर आप wordpress पर website बना रहे हैं तो एक Light Theme का यूज़ करें जैसे कि – Generate Press 
  • बहुत ज्यादा Plugins का यूज़ न करें, इससे आपकी वेबसाइट पर फालतू का CSS Code पड़ा रहता है जो वेबसाइट की स्पीड को slow करता है। 
  • आपके Blog Post में जो Images अपने यूज़ किये हैं उन्हें compress करके लगाएं। उदाहरण के लिए Latest Image Format जैसे कि WebP या AVIF में images यूज़ करें। 
  • वेबसाइट की स्पीड बढ़ाने के लिए आप Cache Plugin का भी यूज़ कर सकते हैं जैसे कि – W3 Total Cache या फिर WP Rocket.  

Website Navigation

Website Navigation भी On Page SEO के लिए बहुत जरुरी पार्ट है। अगर एक यूजर आपकी वेबसाइट पर आता है तो उसे दूसरे pages, Menu, Trending Post, आदि सभी जगह जाने के लिए आसानी होनी चाहिए। जितनी आसानी से वो वेबसाइट पर नेविगेट करेगा उतनी ही जल्दी आपकी वेबसाइट रैंक करना शुरू हो जाएगी।   

आपको कुछ इस तरह से Web Pages को डिज़ाइन करना होगा जिससे कि यूजर को पढ़ने में बहुत कम्फर्ट फील हो। पोस्ट को शेयर करने के लिए सोशल मीडिया बटन उसके सामने होने चाहिए। दूसरी पोस्ट पर जाने के लिए categories उसे दिखनी चाहिए। 

 एक अच्छा Title Tag बनाना 

वेबसाइट का Title कुछ इस तरह का होना चाहिए कि उसे देखते ही user उस पर क्लिक कर दे। जितना अट्रैक्टिव आपका टाइटल होगा उसे उतने ही यूजर द्वारा visit किया जायेगा, इससे CTR भी काफी अच्छा मिलेगा। एक अच्छे Title में 60-65 words से ज्यादा नहीं होना चाहिए। इससे ज्यादा word यूज़ करने पर एक्स्ट्रा वर्ड Google Search में शो नहीं होते हैं। 

एक Title Tag में number और Power Word का यूज़ करना जरुरी होता है। जैसे – Best places to visit in monsoon in india 2023 इस Title में नंबर भी है और Power Word (Best) भी है। 

Post URL या Permalink बनाना 

Blog Post का URL बनाते समय कोशिश करें कि आपके ब्लॉग का Focus Keyword भी उसमे शामिल हो जाये। URL बहुत बड़ा नहीं होना चाहिए 75 words तक का URL एक अच्छा URL माना जाता है। URL को हिंदी में नहीं बनाना चाहिए। आप Chat करने वाली Hinglish भाषा का उपयोग कर सकते हैं (जैसे कि SEO Kya hai).

URL, Permalink और Slug में क्या अंतर् है 

URL और Permalink लगभग एक जैसे ही होते हैं। URL एक webpage, file और resource को कहा जाता है जिसे internet पर कहीं भी ओपन  किया जा सके। 

Permalink एक fixed URL होता है, उसे किसी एक ब्लॉग की post, pages और category आदि के लिए यूज़ किया जाता है। ये भी एक तरह का URL ही होता है जिसे wordpress यूज़ करने वाले ज्यादा अच्छे से समझते हैं। 

URL के लास्ट पार्ट को Slug कहते हैं। जैसे-https://gyanitota.com/what-is-nft इसमें “what-is-nft” एक Slug है। 

Internal और External लिंक को बनाना 

On Page SEO का ये बहुत महत्वपूर्ण पार्ट है। आपके नए article में पुराने articles की interlinking अच्छे से की जानी चाहिए। ध्यान रहे की आप relevant आर्टिकल को ही लिंक करें। इसका उद्देश्य User Experience को अच्छा करने के लिए किया जाता है। ऐसा करने से आपके दूसरे पोस्ट पर भी Traffic आने लग जायेगा। Google भी इससे आपकी वेबसाइट को top पर रैंक कराने की कोशिश करेगा। 

Internal Link के साथ साथ आपको external linking पर भी ध्यान देना होगा। लेकिन ध्यान रहे external link किसी दूसरी authentic या Government site से ही देना चाहिए। 

Mobile SEO क्या है, कैसे करें? अनलिमिटेड मोबाइल ट्रैफिक लाने के 13 बेस्ट तरीके

Alt Tag प्रॉपर तरीके से बनाएं 

आप जितनी भी Images अपनी वेबसाइट में यूज़ करते हो उनके लिए Alt Tag बनाया जाता है। ऐसा करने से कई बार आपकी image Google में Rank होने लगती है और वहां से आपके blog पर Traffic आने लग जाता है। Alt Tag में आप focus keyword या ज्यादा सर्च किया जाने वाला relevant keyword यूज़ में ले सकते हैं। 

High Quality Content लिखें 

आपकी post रैंक हो इसके लिए को सबसे बड़ा फैक्टर Content की Quality ही होती है। Google कहता है कि जितना अच्छा content आप यूजर को देंगे उतनी ही अच्छी आपकी Ranking होती जाएगी। आपका कंटेंट अच्छा होगा तो यूजर आपकी साइट पर ज्यादा समय बिताएगा इससे आपकी वेबसाइट पर Trust बढ़ेगा। एक अच्छे SEO के अनुसार आपको कम से कम 650-700 word का कंटेंट लिखना चाहिए। हालाँकि जरूरत के अनुसार आप इसे बढ़ा भी सकते हैं। 

“कभी भी किसी दूसरी Website का कंटेंट कॉपी नहीं करें इससे भी आपकी रैंकिंग डाउन हो सकती है”

Heading और Keywords

आपके Blog Post में Heading और Subheadings का सही तरीके से यूज़ करें। जब आप अपने ब्लॉग के लिए टाइटल लिखते हैं तो वो H1 Tag में ही लिखा जाता है। इसके बाद आपको subheading बनानी होती है जिसमे H2, H3, H4 Head Tag का यूज़ करना बहुत जरुरी होता है। किसी किसी subheading में आप Focus Keyword को भी जरुर शामिल करें ये बहुत जरुरी होता है। 

अब बात करते हैं Keyword के बारे में, कहने के लिए एक वर्ड है लेकिन अगर आप प्रॉपर Keyword Research करेंगे तो आप समझेंगे की Search में Top पर आने के लिए Keyword का सही यूज़ करना कितना जरुरी होता है। नए ब्लॉगर के लिए सबसे अच्छा है कि वो Long Tail Keyword पर ही काम करें, इससे उनकी पोस्ट को रैंक होने में मदद मिलेगी। 

एक और बात का ध्यान रखें जहाँ भी अपने Keyword का यूज़ किया है उसे BOLD करते जाएँ। इससे गूगल समझ जायेगा की आपका कंटेंट किस टॉपिक पर ज्यादा ध्यान दे रहा है और उन keyword पर वो आपके कंटेंट को रैंक कर सकता है।   

यहाँ हमने आपको On Page SEO करने के कुछ प्रमुख तरीकों को बताया है। अगर आप इन्हें apply करेंगे तो आपकी वेबसाइट में कुछ पॉजिटिव रिजल्ट जरूर मिलेंगे। 

Off Page SEO क्या है 

Off Page SEO करने के लिए आपको अपनी Website या Blog Post पर कुछ भी चेंज नहीं करना होता है। इसे करने के लिए बस आपकी वेबसाइट की लिंक (URL) की ही जरूरत होती है। इस तरह के SEO में आपको दूसरी वेबसाइट पर जाना होता है और वहां comment करके अपनी वेबसाइट की लिंक देनी होती है। इसे Backlink बनाना कहते हैं। 

Off Page SEO के लिए आप सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे कि Facebook, Twitter, Pinterest आदि जगह जाकर भी अपनी पोस्ट शेयर कर सकते हैं। इससे उन प्लेटफार्म पर आपके followers बढ़ जाते है जिससे ट्रैफिक आपकी वेबसाइट पर आ जाता है।

एक और सबसे शब्द अपने सुना होगा Guest Posting ये भी Off Page SEO का ही पार्ट है। आप अपनी Niche से जुड़े किसी फेमस blogger से request कर सकते हैं कि अपने उनके लिए एक Article लिखा है जिसे वो अपने Blog पर डाल सकते हैं (अपनी website कि लिंक उस article में जरूर दें). कुछ ब्लॉगर Guest Posting के लिए पैसे भी मांग सकते हैं।  

आइये अब आसान तरीकों से समझते हैं कि Off Page SEO से रैंकिंग कैसे इम्प्रूव करें।   

Off Page SEO कैसे करें 

यहाँ मैं आपको Off Page SEO करने के कुछ बहुत ही कारगर तरीके बताने वाला हूँ जिसकी मदद से आपको भी SEO करने में आसानी होगी। 

Search Engine में Website Submission 

आपको अपनी Website के URL को अलग अलग सर्च इंजन में जाकर सबमिट करना है। इससे आपको कंटेंट भी उन सर्च इंजन के रिजल्ट में आने लग जायेगा। जिससे आपके Website Traffic में अच्छा खासा इजाफा होगा। 

नीचे Top 10 Search Engine Website Submission की लिस्ट दी गयी है, आप इन्हें विजिट कीजिये और अपनी वेबसाइट सबमिट कीजिये।  

Site NameURL
Google Search Consolehttps://search.google.com/search-console/about
Binghttps://www.bing.com/toolbox/submit-site-url
Yandexhttps://webmaster.yandex.com/addurl.xml
Baiduhttps://ziyuan.baidu.com/linksubmit/url
Yahoohttps://search.yahoo.com/info/submit.html
Active Search Resultshttps://www.activesearchresults.com/addwebsite.php
ExactSeekhttps://www.exactseek.com/add.html
GigaBlasthttps://www.gigablast.com/addurl
EntireWebhttps://www.entireweb.com/free_submission
Exaleadhttps://www.exalead.com/search/web/submit

Social Bookmarking Sites Submission 

Social Sites पर अपनी वेबसाइट को सबमिट करना Off Page Seo के लिए बहुत जरुरी है। बस आपको ध्यान रखना है कि आप Authentic Sites पर जाएँ जिनकी Domain Rating और Domain Authority दोनों अच्छी हो। मैं आपको एक लिस्ट प्रोवाइड कर रहा हूँ जो Top Social Bookmarking Sites 2023 की लिस्ट है। 

ध्यान रहे आपको यहाँ जाकर रजिस्टर करना होगा और फिर कुछ कंटेंट पोस्ट करना होगा जिसके साथ आपकी Website भी लिंक होगी। 

Site NameURL
‘Mix’ Previously Known As StumbleUponhttps://mix.com
Pinteresthttps://www.pinterest.com
Reddithttps://www.reddit.com
Diigohttps://www.diigo.com
Flickrhttps://www.flickr.com/
Myspacehttps://www.myspace.com/
Mediumhttps://medium.com
Tumblrhttps://www.tumblr.com/
Dribbblehttps://dribbble.com/
Slashdothttps://slashdot.org/

Directory Site and Classified Site Submission 

एक बात आप समझिये Off Page Seo करने का उद्देश्य है कि हम अपनी Website की Domain Authority (DA) और Page Authority (PA) बढ़ाएं, और उसके लिए हमें Backlink बनानी होती हैं। इससे गूगल आप पर ट्रस्ट करेगा और आपकी ब्लॉग रैंक होने लग जायेगा। पिछले 2 स्टेप के जैसे ही आपको High DA, PA वाली Top Directory Submission Sites और Top Classified Submission Sites को सर्च करना है और अपने URL को सबमिट करना है।  

Social Media की मदद लें

Facebook, Twitter, Linkedin जैसे अच्छे प्लेटफार्म पर अपने Blog/Website का पेज बनाएं और अपनी Website की लिंक उसमे सबमिट कर दें। हर दिन कुछ न कुछ कंटेंट पोस्ट करते रहें जिससे ट्रैफिक आपकी वेबसाइट पर जाए। ये भी एक अच्छा तरीका होता है trust बढ़ाने का।   

Blog में Comment करके Backlink बनाएं 

इसके लिए आपको दूसरे अच्छे ब्लॉग पढ़ने होंगे और देखना होगा कि कमेंट के साथ website को add करने का ऑप्शन है या नहीं। जिस Website की अच्छी रेटिंग को उनके आर्टिकल की तारीफ करें और अपनी वेबसाइट की लिंक के साथ कमेंट सबमिट कर दें। कुछ कमेंट आटोमेटिक अप्रूव हो जायेंगे और कुछ शायद न हो। 

ध्यान रहे ये जितने भी तरीके बताये जा रहे हैं ये 1 सप्ताह या 1 महीने में पूरे नहीं होंगे। ये never ending process है आपको लगातार करते रहना होगा। इसलिए कभी भी जल्दी रिजल्ट मिलने के उद्देश्य से काम न करें। 

अगर आपको इस तरह की blog commenting वेबसाइट की जरूरत है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं मैं कुछ HIGH DA वाली वेबसाइट आपको प्रोवाइड कर दूंगा। 

Q&A Website लिंकिंग 

इंटरनेट पर ज्यादातर user अपने सवालों के जवाब ढूंढने आते हैं। इसके लिए एक बहुत फेमस वेबसाइट है ‘Quora’ जिसका नाम अपने सुना ही होगा। आपको भी इस साइट पर अकाउंट बनाना है और अपने Blog Niche के अकॉर्डिंग Questions के Answer देना शुरू कर देना है। उसी answer में आप अपने ब्लॉग की relevant link को भी शेयर कर सकते हैं। 

Guest Post सबमिट करना 

इसमें आपको किसी  दूसरे की वेबसाइट पर कांटेक्ट करना है और उनसे कहना है कि आप उनके लिए किसी टॉपिक पर ब्लॉग लिखना चाहते हैं। अगर वो accept करते हैं तो आप उनको अच्छा कंटेंट लिखके दीजिये साथ में अपनी Website URL भी मेंशन कर दीजिये। इससे आपको High Quality Backlink मिलेगी जो आपके ब्लॉग की अथॉरिटी बढ़ाने में मदद करेगी। 

कुछ blogger guest post के लिए paid services भी देते हैं, मतलब आपकी लिखी पोस्ट वो अपने ब्लॉग पर पब्लिश करने के लिए आपके कुछ रूपए ले सकते हैं।   लेकिन अगर आपके पास पैसा नहीं है तो google पर सर्च करें free guest posting sites फिर आपको लिस्ट मिल जायगी और आप यहाँ भी guest posting कर सकते हैं। 

Web 2.0 submission करना 

कुछ Blogger तो समझ ही नहीं पाते हैं कि ये क्या है और कैसे इसमें website सबमिट करना है। आइये थोड़ा सिंपल भाषा में समझते हैं। पहले सभी वेबसाइट Web 1.0 पर काम करती थी जिसे static कहा जाता था, मतलब आप सिर्फ कंटेंट पढ़ सकते थे, उस पर कमेंट करना या कुछ पोस्ट करना reader के हाथ में नहीं होता था।  web 2.0 के आ जाने से इसमें बड़ा बदलाव आया इसमें यूजर कमेंट भी कर सकता था, अपने प्रश्न भी पूछ सकता था। 

Web 2.0 के उदाहरण हैं : Blogging Sites, Social Media Sites (Facebook, Youtube Etc )  

अब आते हैं अपने काम की बात पर, आपको सिर्फ ये करना है कि Web 2.0 पर काम करने वाली वेबसाइट को सर्च करना है और उन पर अपना अकाउंट बनाना है। अगर blogging site है तो अपने Niche के आधार पर एक नया ब्लॉग बनाना है।  इसके बाद आप इन साइट्स पर कंटेंट पोस्ट करेंगे जिसमें आप अपने Original Blog की लिंक को शेयर करेंगे। 

ध्यान रखने वाली बात ये है कि आपको ऐसी वेबसाइट सेलेक्ट करना है जिनका SPAM SCORE बहुत कम हो। कुछ अच्छी साइट्स के नाम मैंने नीचे दिए हैं आप देख सकते हैं।    

  • Wikipedia
  • Squidoo
  • WordPress
  • Blogger
  • Quora

Off Page SEO के लिए कुछ और तरीके 

हमेशा ध्यान रहे कि आपको Backlink लेना है। कोशिश रहेगी की Do Follow backlink ही मिले, लेकिन हमेशा ऐसा होता नहीं है। इसलिए No Follow Backlink भी मिले तो भी आपको ले लेना है। Wikipedia तो हमेशा ही No Follow Backlink देता है लेकिन उसका DA इतना ज्यादा है कि फर्क नहीं पड़ता। 

ऊपर दिए तरीकों से मिलते जुलते कुछ और तरीके हैं जिन्हें आप अपना सकते हैं। Profile Creation, Image Submission Sites, Forum Submission Sites, Document Submission Sites ये कुछ तरीके हैं जिनसे आप Off Page SEO का और अच्छे तरीके से लाभ ले सकेंगे।

Technical SEO क्या है  

Technical SEO के नाम से ही पता चलता है कि इसमें कुछ टेक्निकल चीज़ों के बारे में बात होगी। इसमें वेबसाइट की Speed, Webpages की Indexing और Crawling आदि चीज़ो को इम्प्रूव करने का प्रयास किया जाता है। User Experience को अच्छा बनाने के लिए इसे समझना बहुत जरुरी है। 

कई बार कोई यूजर आपकी साइट पर आता है तो उसे 404 Error ‘Page Not Found’ दिखाई देता है और फिर वो यूजर किसी दूसरी साइट पर शिफ्ट हो जाता है, और आपका ट्रैफिक जितना होना चाहिए उससे कम हो जाता है। इन सभी चीज़ों को मैनेज करने के लिए ही Technical SEO किया जाता है। 

Technical SEO कैसे करें 

अगर आप भी अपनी वेबसाइट का Technical SEO करना सीखना चाहते हैं तो नीचे दी गयी स्टेप्स को फॉलो कीजिये। 

SEO Friendly Site बनाएं 

जब आप अपने Blog के लिए वेबसाइट बनाएं तो इस चीज़ का ध्यान रखें कि आपकी Website SEO Friendly हो। वेबसाइट का आर्किटेक्चर कुछ ऐसा होना चाहिए कि किसी एक पेज से किसी दूसरे पेज तक जाने में बहुत आसानी हो। आपकी वेबसाइट का Homepage सभी categories से प्रॉपर लिंक होना चाहिए। ठीक इसी तरह आपकी Categories के अंदर subcategories की प्रॉपर लिंकिंग होनी चाहिए। 

इसका मुख्य उद्देश्य यही होता है कि Google Bot जब आपकी वेबसाइट को crawl करें तो उनको किसी भी तरह की Navigation में दिक्क्त नहीं होनी चाहिए। 

Google Search Console में Sitemap Submit जरूर करें 

आपकी नयी वेबसाइट और उसके पोस्ट की जानकारी google को sitemap से ही मिलती है। Sitemap एक XML फाइल होती है जिसके पास आपकी वेबसाइट के सभी pages, blogs, Stories आदि की लिस्ट होती है। Sitemap को submit करना बहुत आसान होता है। आप कोई न कोई SEO Plugin उसे कर ही रहे होंगे चाहे वो Yoast SEO हो या Rank Maths इसकी सेटिंग में जाकर आप sitemap निकाल सकते हैं और Google Search Console में इसे सबमिट कर सकते हैं। 

आपकी नयी पोस्ट को Crawl करना उसे जल्दी से जल्दी Index करना ये सब Sitemap से ही होता है। 

Sitemap Syntax कुछ इस तरह का होता है:-

  • yoursite.com/sitemap.xml
  • yoursite.com/sitemap_index.xml  

HTTPS Protocol का यूज़ करें 

अपने देखा होगा की आपकी वेबसाइट के URL में सबसे आगे HTTP या HTTPS लिखा रहता है। HTTPS का मतलब है Hypertext transfer protocol secure.  अगर आपकी वेबसाइट में HTTPS है तो ये आपकी सेंसिटिव इन्फोर्मशन को सिक्योर रखती है। इसलिए यदि अभी तक ऐसा नहीं किया तो जल्दी से जल्दी SSL Certificate को अपने website पर इनस्टॉल करें, इसी से आपकी वेबसाइट HTTPS पर काम करने लग जाएगी। 

https ssl

कुछ होस्टिंग प्रोवाइडर जैसे कि Hostinger इसे अपने hosting plan के साथ फ्री में SSL Certificate प्रोवाइड करती हैं।  

अपनी website का एक ही Version use में लाएं 

अपनी website का एक ही Version use में लाएं, थोड़ा समझने की जरूरत है की ये क्या है, आपकी वेबसाइट 2 तरह से एक्सेस की जाती है। 

  • https://yourwebsite.com
  • https://www.yourwebsite.com

अब यदि अपने Google पर दोनों के लिए अलग अलग प्रॉपर्टी बनाई है तो कभी Crawler पहली वेबसाइट को रैंक कराएगा और कभी दूसरी। Backlink बनाते समय भी इसी तरह की दिक्क्त होती है। इसलिए चेक करें कि क्या आपकी वेबसाइट के अलग अलग version google में दिखाई दे रहे हैं। यदि हाँ तो अपने किसी एक version को दूसरे में Redirect कर दें। 

Page Speed पर ध्यान दें

Page Speed आपकी वेबसाइट की रैंकिंग में बहुत बड़ा फैक्टर होता है। चाहे आपकी वेबसाइट Mobile में ओपन हो या Desktop में उसकी स्पीड अच्छी होनी चाहिए। इसके लिए आप Google PageSpeed Insights tool का यूज़ करें। जैसे ही आप अपनी वेबसाइट सबमिट करेंगे वो बता देगा की आपका Score क्या है। साथ ही वो ये भी बताएगा कि कहाँ कहाँ इम्प्रूव करने की जरूरत है। 

जितना अच्छा Performance Score होगा उतनी ही फ़ास्ट आपकी वेबसाइट लोड हो जाएगी। कुछ तरीके हैं जिनसे website speed बढ़ा सकते हैं। 

  • अपने Blog में Compress की गयी images का यूज़ करें। अगर आप Webp या AVIF format में image अपलोड कर सकते हैं तो अच्छा होगा।  
  • अपने Website में CDN (content distribution network) का उपयोग कर सकते हैं। 
  • HTML, CSS और Javascript files को minify करें, इसके लिए भी Cache tools आते हैं, आपको मिल जाएंगे।    

Duplicate Content और Broken Page लिंक को fix करें

आपकी वेबसाइट पर डुप्लीकेट कंटेंट या मिलता जुलता कंटेंट एक से ज्यादा पेज पर नहीं होना चाहिए। डुप्लीकेट कंटेंट आप ही के दूसरे कंटेंट को रैंकिंग में पीछे कर देता है, इसलिए इससे बचना चाहिए। 

कई बार आपको पता नहीं चलता है और आपकी Website पर Broken Page या 404 Error वाले पेज बढ़ते जाते हैं। उन्हें लगातार analyze करने की जरूरत है। ऐसे पेज मिलने पर उन्हें चेक करें अगर कोई गलती से डिलीट हुआ है तो उसके लिए दोबारा कंटेंट लिखें और उसी URL पर उसे पब्लिश कर दें। जरूरत पड़ने पर उन्हें  Redirect भी कर सकते हैं। 

अन्य जरुरी जानकारी – इन सभी के साथ साथ आपको कुछ Basic Term जैसे कि Indexing, Robot Meta Tag, Mobile Friendly Page, Schema आदि चीज़ों को भी समझना पड़ेगा।    

Voice Search SEO क्या है 

आपमें से लगभग सभी लोग इस बात को जानते हैं कि AI (Artificial Intelligence) की मदद से कितना काम आसान होता जा रहा है। Voice Search में भी ऐसा ही होता है जब कोई यूजर अपने मोबाइल से कोई Question पूछता है तो मोबाइल उसे Search Engine पर सर्च करके कुछ Result दिखाता है। इस सर्च में आपकी वेबसाइट के रिजल्ट भी दिखाए जा सकें उसके लिए Voice Search SEO किया जाता है। 

आजकल लगभग सभी मोबाइल फ़ोन इस सपोर्ट करते हैं। आइये जानते हैं कुछ famous voice search device और उनके search engine के नाम। 

Voice Search DeviceSearch Engine
Google HomeGoogle
Amazon Echo/AlexaBing
Google AssistantGoogle
iPhone/SiriSafari
Android phones and devicesGoogle
Microsoft CortanaBing

Voice Search SEO कैसे करें

इसके लिए आपको ज्यादा अलग से कुछ करने की जरूरत नहीं है। लेकिन जरुरी चीज़ों को ध्यान में रखना है जो में बता रहा हूँ। 

  • अगर आपका कोई Local Business है और अपने Google My Business पर प्रोफाइल बनाई है तो उसे अच्छे से Optimize करें जिससे की वो Top रिजल्ट में आ सके। जैसे कि आप ‘Top Pizza Shop Near Me’ इस तरह के Tags का यूज़ कर सकते हैं।  
  • ऐसा कंटेंट बनाएं जो जनरली लोग सर्च करते हैं, जितना अच्छा यूजर एक्सपीरियंस होगा उतना ही अच्छा रैंक मिलेगा। 
  • आज की इस दुनिया में Mobile पर ब्राउज करने वालों की संख्या desktop पर ब्राउज करने वालों से ज्यादा है तो आपको सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है कि Mobile Friendly Website हो। 
  • अपने कंटेंट में विजिटर के Frequently Asked Questions के answer देने की कोशिश करें। आप इसे FAQs Schema की मदद से आसानी से कर पाएंगे। Rank Maths के फ्री प्लान में आप डायरेक्ट FAQ सर्च करेंगे तो FAQ add करने का ऑप्शन मिल जाता है। 

SEO Techniques क्या है

SEO परफॉर्म करने के लिए 2 तरह की technique यूज़ की जाती हैं। 

  • White Hat SEO 
  • Black Hat SEO 

White Hat SEO

Search Engine के कुछ नियम होते हैं उनको फॉलो करके जो SEO किया जाता है उसे White HAT SEO कहते हैं। इस तरह के SEO में High Quality Keyword का यूज़, Unique Content, Good Website Structure आदि चीज़ो पर ध्यान दिया जाता है। इससे जो रिजल्ट मिलता है उससे हमारी वेबसाइट को नुकसान नहीं होता।  

Black Hat SEO

दूसरी तरफ Black Hat SEO वो होता है जो Search Engine के बनाये गए नियमों के बाहर जाकर काम करता है। जैसे कि कुछ भी तरीके निकालकर वहां से आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक भेजना, फ़र्ज़ी बैकलिंक बना लेना आदि। इससे आपकी वेबसाइट SERP में एकदम से टॉप पर आ सकती है। लेकिन इससे हम कुछ ही समय तक बेनिफिट ले पाते हैं और जैसे ही सर्च इंजन इसे ट्रैक कर लेता है वो वेबसाइट को ब्लैकलिस्ट भी कर सकता है। 

SEO करने से website को क्या क्या फायदे होते हैं 

SEO की इम्पोर्टेंस तो आप समझ ही गए होंगे। आइये अब कुछ पॉइंट्स के माध्यम से समझते हैं कि SEO से एक वेबसाइट को क्या क्या फायदा हो सकता है। 

  • सबसे पहला फायदा तो ये है कि SEO करने से आपकी वेबसाइट SERP में टॉप में आ सकती है। 
  • SEO ही है जिससे आपकी website या Blog google में नंबर 1 पर रैंक कर सकता है। 
  • Google Adsense से पैसा कमाने के लिए हमें Organic Traffic की जरूरत होती है वो भी इस SEO की मदद से लाया जा सकता है। 
  • वेबसाइट की अथॉरिटी बढ़ाने के लिए भी SEO सबसे ज्यादा मददगार होता है। अगर SEO से वेबसाइट रैंक करेगी तो google उस पर ज्यादा ट्रस्ट करेगा और ज्यादा यूजर को दिखायेगा। 
  • आपकी वेबसाइट की Social Media Presence को भी SEO ही बढ़ाता है। मान लीजिये अपने एक आर्टिकल को अच्छे से SEO करने के बाद पोस्ट किया और वह Google Search Engine में फर्स्ट पेज पर रैंक कर रहा है तो उसे एक यूजर दूसरों को भी शेयर करेगा। इसके लिए वह Facebook, Instagram, Twitter जैसे प्लेटफार्म की ही मदद लेगा, और इससे आपकी वेबसाइट की वैल्यू सोशल मीडिया पर भी बढ़ती जायगी। 
  • लगातार SEO करके कंटेंट पब्लिश करने से USER Experience भी बढ़ता है और इससे फायदा ये होता है कि आपकी वेबसाइट पर यूजर ज्यादा समय तक रुकेगा। इससे Bounce Rate कम होगा जो कि एक अच्छी website को रैंक करने के लिए बहुत जरुरी है।
  • आपके कॉम्पिटिटर से आगे निकलने में मदद करता है। आप जो Content Post कर रहे हैं उसे आपके अलावा दूसरे यूजर भी पोस्ट कर रहे होंगे। अब अगर अपने अच्छा SEO किया है तो आपकी वेबसाइट सर्च में हमेशा उनसे आगे रहेगी। (ध्यान रहे कि High Quality Content भी होना आवश्यक होता है)    

निष्कर्ष

आज अपने जाना की SEO Kya hai और इसके 4 Types को भी अच्छे से समझा। इससे जुडी बहुत जरूरी जानकारी हमने आपको दी फिर भी ऐसी बहुत सी बातें है जो एक ही ब्लॉग में बताना थोड़ा कठिन हो जाता है। उनको मैं अलग अलग ब्लॉग के माध्यम से शेयर करते जाऊंगा। 

आपको SEO से जुडी ये जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं। किसी अन्य जानकारी को प्राप्त करने लिए भी आप कमेंट कर सकते हैं हम ब्लॉग के माध्यम से आप तक जानकारी पहुँचाने की हर संभव कोशिश करेंगे।

  1. SEO के कितने प्रकार होते हैं?

    SEO कुल 4 प्रकार से किया जाता है-
    On Page SEO
    Off Page SEO
    Technical SEO
    Voice Search SEO

  2. SEO सीखने में कितना समय लगता है?

    इसका कुछ एक्यूरेट Answer नहीं होता है ये एक लम्बी लर्निंग प्रोसेस है जिसे आप लगातार सीखते रहते हैं। हालाँकि कुछ ऑनलाइन कोर्स इसे 6 महीने से 1 साल में सिखाने का दावा करते हैं।

  3. Mobile Seo क्या होता है?

    ये कुछ अलग नहीं है, बस एक वेबसाइट मोबाइल या टेबलेट पर सही तरह से ओपन हो इसके लिए वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाया जाता है। इस SEO का काम भी वेबसाइट को Search Engine के रिजल्ट में टॉप पर लाना होता है। 

Share Now:

मेरा नाम मुकेश स्वर्णकार है और मैं एक इंजीनियर हूँ। मुझे टेक्नोलॉजी, एजुकेशन, लेटेस्ट मोबाइल और गैजेट्स, ऑनलाइन पैसे कमाने के टिप्स, ऑटोमोबाइल, ट्रेंडिंग इवेंट्स आदि के लिए कंटेंट लिखने में बहुत इंटरेस्ट है। मुझे ब्लॉग लिखते हुए लगभग 6 वर्ष हो गए हैं।


3 thoughts on “SEO क्या है और कैसे करें 1-1 स्टेप में समझें -What is SEO in Hindi”

Leave a Comment

दुल्हन के लिए बेस्ट लहंगा डिजाइन 2024 Vivo X100 पहला ऐसा मोबाइल जिसमें मिलेंगे ये खास फीचर्स NEXON EV का नया वैरिएंट लांच, दमदार और ज्यादा रेंज लो आ गई तमन्ना भाटिया की ये न्यू वेब सीरीज Tata Nexon के नए अवतार को देख लोग हुए दीवाने