book, heart, pansies

टुकड़ा टुकड़ा प्यार

प्यार का न होना कोई बुरा नहींबिना प्यार के भी ज़िन्दा रह सकते हैंसूखे फूलों को सहेजा जा सकता हैबुरा है उसका पंखुड़ियों में बिखर जानाटुकड़ा टुकड़ा प्यार में कोई जी नहीं सकताजी भी ले फिर आदमी वो रह नहीं सकता इश्क़ हुआ था एक नादान को नादान सेतैरने से दोनों ही वो अनजान थे …

टुकड़ा टुकड़ा प्यार Read More »