Mobile SEO क्या है, कैसे करें? अनलिमिटेड मोबाइल ट्रैफिक लाने के 13 बेस्ट तरीके

आज के डिजिटल युग में मोबाइल डिवाइस हमारी लाइफ का सबसे महत्वपूर्ण पार्ट बन गए हैं। मोबाइल यूज़र्स की बढ़ती संख्या के साथ, आज हर बिज़नेस अपनी ऑनलाइन प्रजेंस को बढ़ाने के लिए मोबाइल यूजर के हिसाब से काम करना शुरू कर दिया है। यही पर Mobile Seo की बात आती है, इसमें कोई भी बिज़नेस अपनी वेबसाइट और कंटेंट को कुछ इस तरह से बनाता है कि उसका कंटेंट मोबाइल यूजर को आसानी से दिख सके।   

आज इस ब्लॉग में आप जानेंगे कि Mobile Seo क्या है, इसे कैसे करें ताकि आपकी वेबसाइट/कंटेंट हर किसी के मोबाइल तक आसानी से पहुँच सके। अगर आप मोबाइल एसईओ को अच्छे से कर लेते हैं तो आप आसानी से इस दुनिया की अधिकतम जनसँख्या तक पहुँचने का रास्ता निकाल लेंगे। 

Table of Contents

Mobile Seo क्या है?

मोबाइल seo आपकी वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ करने का एक तरीका है जिससे आपकी वेबसाइट मोबाइल डिवाइस पर शानदार दिखे और ठीक से काम करे। अगर आप मोबाइल seo ठीक से करते हैं तो आप अपने यूजर को एक बेस्ट साइट एक्सपीरियंस देंगे जिससे वह आपकी साइट पर ज्यादा देर तक रुकेगा और उसके दोबारा आने की उम्मीद भी बढ़ जाती है। अगर Mobile Seo ठीक से किया जाए तो आपकी वेबसाइट को SERPs (सर्च इंजन रिजल्ट पेज) में टॉप रैंक में आने से कोई नहीं रोक सकता। 

Mobile SEO

पिछले कुछ वर्षों में मोबाइल डिवाइस का उपयोग इस कदर बड़ा है कि आप अंदाजा नहीं लगा सकते पिछले 5 सालों में मोबाइल यूजर बढ़कर डबल हो गए हैं, वर्तमान में पूरे वर्ल्ड में 6.92 बिलियन मोबाइल यूजर हैं जो कुल आबादी का लगभग 85% है। यह डाटा हर दिन बढ़ता जा रहा है, ऐसे में अगर आपके पास एक मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट नहीं है तो बिज़नेस के लिए बहुत बड़ा लॉस हो सकता है।  

मोबाइल के लिए SEO इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

पिछले कुछ वर्षों में बढ़ते हुए मोबाइल यूजर की संख्या ने रिकॉर्ड बनाया है और ये लगातार बढ़ रही है। कुछ समय बाद ये कहना गलत नहीं होगा कि लगभग 95% लोग मोबाइल का उपयोग कर रहे हैं। बहुत सी कंपनी तो एक से ज्यादा सिम वाले मोबाइल ऑफर करती हैं और यूजर भी उनका भरपूर उपयोग करते हैं। मोबाइल seo इसलिए भी जरुरी हो जाता है क्यूंकि हमारी वेबसाइट को देखने वाले अधिकतर लोग मोबाइल पर ही एक्सेस करेंगे और अगर हमारी वेबसाइट ठीक से ओपन नहीं होगी तो उससे हमें डायरेक्ट नुकसान होने के पूरे चान्सेस हैं। 

अगर आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली है और मोबाइल फर्स्ट इंडेक्स को सपोर्ट करती है तो आप दूसरे वेबसाइट से हमेशा आगे रहने वाले हैं। जब यूजर पहली बार आपकी साइट पर आता है तो उसका फर्स्ट इंटरेक्शन आपकी कंपनी से नहीं उसके मोबाइल पेज से होता है इसलिए इस पर बहुत ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। 

कैसे पता करें कि आपकी वेबसाइट Mobile फ्रेंडली है या नहीं 

अभी तक आपको ये समझ में आ गया होगा कि Mobile SEO क्या है और क्यों जरुरी है। अब आपको ये पता लगाना है कि आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली है या नहीं ?

सबसे सिंपल तरीका तो यही है कि मोबाइल में वेबसाइट ओपन करके देखें और हर एक clickable एलिमेंट को जाकर चेक करें की ये प्रॉपर रिस्पांस के साथ ओपन हो रहा है या नहीं। अगर आपके ब्लॉग पोस्ट में साइड कार्नर ठीक से नहीं दिख रहे या स्क्रॉल करने में परेशानी आ रही है या कुछ बटन रिस्पांस नहीं दे रहे तो समझ जाइये कि आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली नहीं है। 

कुछ ऐसे टूल्स भी है जिनसे आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि आपकी वेबसाइट मोबाइल यूजर के लिए परफेक्ट है या नहीं। 

  • जैसे Google का एक टूल है Mobile Friendly Test इसे ओपन करके अपनी वेबसाइट की लिंक डालिये और कुछ ही देर में डिटेल आपके सामने आ जाएगी। 
Mobile seo kaise karen
  • Google Search Console के अंदर भी एक ऑप्शन आता है ‘Mobile Usability’ का जिसमें आप आसानी से पता लगा सकते हैं की आपकी वेबसाइट मोबाइल यूजर के लिए किस तरह परफॉर्म कर रही है। 
what is mobile seo in hindi

अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को Mobile SEO के लिए कैसे ऑप्टिमाइज़ करें

अब आप समझ गए होंगे कि Mobile SEO कितना महत्वपूर्ण है, आइये अब जानते हैं कि ऐसे क्या तरीके हैं जिनसे आप अपनी वेबसाइट/ब्लॉग को मोबाइल फ्रेंडली बना सकते हैं। मैं यहाँ कुछ बहुत इम्पोर्टेन्ट पॉइंट बताउगा जिनसे आप मोबाइल Seo को अच्छे से कर सकते हैं। अगर आप ब्लॉगिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो ये आपके बहुत काम आने वाला है। 

अपनी Website का Load Time इम्प्रूव करें

आपकी साइट का लोड टाइम मोबाइल एक्सपीरियंस का सबसे महत्वपूर्ण पार्ट है। आजकल यूजर जब कुछ सर्च करते हैं तो उन्हें बहुत जल्दी रहती है जैसे ही वो किसी साइट की लिंक पर क्लिक करते हैं तो 2-4 सेकण्ड्स के अंदर उसे ओपन हो जाना चाहिए। लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो वो यूजर उस वेबसाइट को छोड़कर बाहर आ जाता है, इसे ही बाउंस रेट कहा जाता है कि कोई यूजर कितनी देर तक आपकी वेबसाइट पर रुका। 

लोड टाइम चेक करने के लिए आप गूगल के टूल PageSpeed Insights की सहायता ले सकते हैं, ये स्पीड से जुड़े हर एक आस्पेक्ट की जानकारी आपको देगा जैसे कि FCP (फर्स्ट कंटेंटफुल पेंट), LCP (लार्जेस्ट कंटेंटफुल पेंट), CLS (क्युमुलेटिव लेआउट शिफ्ट) आदि। इस टूल से आप Mobile और Desktop दोनों की पेज स्पीड का पता लगा सकते हैं।   

mobile seo

आपकी वेबसाइट में कहाँ कहाँ इम्प्रूवमेंट करना है ये सब यहाँ दिखाई दे जायेगा जिसे आप ठीक कर सकते हैं। 

कुछ बेसिक Technical बातों का भी ध्यान रखें 

आपकी वेबसाइट मोबाइल या डेस्कटॉप पर अच्छे से परफॉर्म करे उसके लिए जरुरी है कि इन बेसिक बातों को ध्यान में रखा जाये 

  • एक अच्छी Hosting सर्विस का उपयोग करें जिसकी मार्केट में अच्छी पोजीशन हो।
  • Google सिक्योर मोबाइल साइट को अच्छी रैंक देता है इसलिए HTTPS का यूज़ करें। 
  • Images को अच्छे से ऑप्टिमाइज़ करें। कंप्रेस्ड फाइल फॉर्मेट जैसे WebP, AVIF फॉर्मेट में इमेज अपलोड करें। 
  • अपनी वेबसाइट पर पड़े Unnecessary कोड्स को हटा दें जैसे कि CSS, HTML और Javascript (इस स्टेप में बहुत सावधानी बरतने की जरूरत होती है अगर आप खुद से नहीं कर पाते हैं तो किसी प्रोफेशनल को hire करें)

User Experience (UX) को बेहतर बनायें 

Mobile seo बेस्ट प्रैक्टिसेज में से ये भी एक इम्पोर्टेन्ट फैक्टर है। मोबाइल और यूजर आपस में कितना कम्फर्टेबल है ये डिपेंड करता है यूजर एक्सपीरियंस से। अपने डेली रूटीन में यूजर दिन में कई बार बहुत सी मोबाइल वेबसाइट को एक्सेस करता है, इसमें से उसे जिस वेबसाइट को यूज़ करने में आसानी होगी वह उस पर दोबारा जरूर विजिट करेगा। 

इसलिए यूजर एक्सपीरियंस एक बहुत महत्वपूर्ण पहलु है जिस पर आप सभी को ध्यान देना चाहिए। अगर आपकी वेबसाइट फ़ास्ट लोड होती है लेकिन उसके बाद यूजर को उसके जरूरत की चीज़ आसानी से न मिले तो भी वो आपकी साइट को छोड़कर चला जायेगा। 

अपनी वेबसाइट को रिस्पॉन्सिव और Visually क्लीन बनायें 

ज्यादा डरने की जरूरत नहीं है ये बहुत सिंपल सी चीज़ है। रिस्पॉन्सिव का मतलब बस इतना है कि अगर कोई आपकी वेबसाइट पर कहीं भी क्लिक्स करता है या स्क्रॉल करता है या कोई कमेंट करता है तो आसानी से कर सके किसी भी तरह की दिक्क्त न हो। 

वहीं Visually Clean वेबसाइट का सीधा सा उदाहरण ये है कि यूजर को सिर्फ काम की चीज़ें ही सामने दिखाई दें। अगर ज्यादा कुछ दिखाना चाह रहे हैं तो उनके बीच में प्रॉपर स्पेस मेन्टेन रहे जैसे कि मान लीजिये आप Menu में बहुत सी कैटेगरी दिखाना चाहते है तो ये ध्यान दें कि यूजर हर एक केटेगरी पर आसानी से क्लिक कर सके। 

Call To Action (CTA) आसानी से दिखना चाहिए 

एक और बात का ध्यान रखना होता है और वो है Call To Action (CTA). अगर आप मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट बना रहे है तो ध्यान रहे उसमे आपसे कांटेक्ट करने का ऑप्शन अच्छे से दिखाई दे और प्रॉपर वर्क भी करे। जरुरी नहीं ये कांटेक्ट नंबर ही हो, ये आपकी ईमेल-आईडी या फिर आपकी कोई जरुरी जानकारी भी हो सकती है। ये बात बहुत ध्यान देने योग्य है कि इस तरह के कॉल टू एक्शन आपके अथॉरिटी को बढ़ाने में बहुत मदद करते हैं। 

SEO क्या है और कैसे करें 1-1 स्टेप में समझें

ऐसे Fonts का यूज़ करें जो मोबाइल डिवाइस पर अच्छे दिखें  

यहाँ हम Mobile Seo की बात कर रहे हैं तो ये बात बहुत जरुरी हो जाती है कि हमारे कंटेंट के लिए Fonts ऐसे सिलेक्ट किये हों जो मोबाइल जैसी छोटी स्क्रीन पर क्लियर विज़िबल हो। आपकी वेबसाइट का डिज़ाइन कुछ इस तरह का होना चाहिए कि स्क्रीन साइज के बदलने पर fonts भी अपने आपको ऑप्टिमाइज़ कर लें। हैडिंग के लिए बोल्ड फॉन्ट, सब-हेडिंग्स में उससे थोड़े छोटे और पैराग्राफ के लिए नार्मल साइज फॉन्ट इन बातों का आपको विशेष ध्यान देना होगा। 

Pop-ups का उपयोग संभलकर करें 

पॉप अप्स का यूज़ किसी स्पेशल इनफार्मेशन को हर कस्टमर तक पहुँचाने के लिए किया जाता है। जैसे ही कोई आपके वेबसाइट के किसी कंटेंट को ओपन करता है तो सबसे पहले उसे ये पॉप अप दिखाई देगा और इसे देखने के बाद ही वो अपने सर्च किये गए कंटेंट तक पहुँच पाता है। डेस्कटॉप मोड में तो स्क्रीन बड़ी रहती है तो यूजर आसानी से इसे हैंडल कर लेता है लेकिन मोबाइल स्क्रीन पर ये पॉप अप्स फुल स्क्रीन साइज के आ जाते हैं या फिर इनको रिमूव करने का ऑप्शन यूजर ढूंढ नहीं पता ऐसे में वो आपकी वेबसाइट को छोड़कर चला जायेगा।

इसलिए ध्यान देने वाली बात ये है कि बहुत जरुरी होने पर ही Pop-ups का यूज़ करें जो कि मोबाइल फ्रेंडली हो। अच्छा होगा कि आप बहुत ज्यादा pop-ups का यूज़ न करें। 

Local Seo में भी अपनी वेबसाइट का यूज़ करें 

मोबाइल के लिए seo करते समय लोकल seo भी बहुत काम आता है। इसे एक उदाहरण से समझते हैं – अधिकतर मोबाइल यूजर कुछ तरह से गूगल सर्च करते हैं ‘Best Pizza Shop Near Me’ जो लास्ट में वर्ड आया है ‘Near Me’ ये लोकल बिज़नेस से ही सबसे ज्यादा सर्च रिजल्ट दिखाता है। इसलिए अगर हम गूगल की रैंकिंग में आगे आना चाहते हैं तो ये ध्यान रखना होगा कि वो किस तरह के पेज को SERPs में सबसे ऊपर रैंक कराता है। 

लोकल seo के लिए आपको कोई बहुत बड़ा काम नहीं करना है बस Google My Business प्लेटफार्म पर जाना है और अपना बिज़नेस रजिस्टर कर लेना है, जिसमें आपकी बेसिक डिटेल एंटर कर देना है जैसे कि नाम, ओपन ऑवर, फोटोज, कांटेक्ट नंबर और सबसे जरुरी आपकी वेबसाइट।  

mobile seo kya hai hindi

Title Tag और Meta Description को भी ऑप्टिमाइज़ करें 

Mobile Seo का एक जरुरी पार्ट है Title Tag और Meta Description. आज के युग में हर यूजर बहुत फास्ट जानकारी चाहता है ऐसे में आपका title tag ही बताता है कि आपका पेज किस बारे में है और ये वो पहली चीज़ है जो यूजर सबसे पहले देखता है। इसलिए title tag बहुत ही शार्ट और स्पेसिफिक होना चाहिए। 

Meta Description आपके पेज का प्रीव्यू कहलाता है जिसे Excerpt नाम से भी जाना जाता है। ये यूजर को बताता है कि अल्टीमेटली उन्हें इस पेज में क्या जानकारी मिलने वाली है। टाइटल टैग और मेटा डिस्क्रिप्शन को ऑप्टिमाइज़ करने के लिए इन बातों को ध्यान में रखें-

  • Title Tag की length 50-70 कैरेक्टर की होनी चाहिए।   
  • Title Tag की शुरुआत में keyword का यूज़ करना अच्छा रिजल्ट देगा। 
  • Meta Description की length 150-160 कैरेक्टर की होनी चाहिए।
  • Meta Description में भी Keyword का यूज़ करना जरुरी होता है।  
  • CTR (क्लिक थ्रू रेट) बढ़ाने के लिए इन दोनों का ही विशेष ध्यान देना होता है। 

मोबाइल यूजर के लिए डेडिकेटेड URL बना सकते हैं

बहुत सी कंपनियां अपने मोबाइल यूजर के लिए एक सेपरेट URL बना देती हैं ये भी एक तरीका हो सकता है मोबाइल seo इम्प्रूवमेंट का। इसमें एक नया url बनाया जाता है जिसमें डेस्कटॉप वैरिएंट का ही कंटेंट दिखाया जाता है लेकिन मोबाइल के हिसाब से। जनरली इसका URL कुछ इस टाइप का होता है “m.mywebsite.com” या “mywebsite.com/mobile”. जब भी कोई मोबाइल यूजर इसे विजिट करता है तो उसे एक अच्छा यूजर एक्सपीरियंस मिलता है। 

अपने कंटेंट को Voice Search के लाइट ऑप्टिमाइज़ करें 

मोबाइल यूजर कई बार voice command से सर्च करते हैं जैसे अपने नाम सुना होगा Alexa, Siri, Google Assistant. जबसे ये वर्चुअल असिस्टेंट सर्च में आये हैं तबसे सर्च एक्सपीरियंस भी काफी चेंज हुआ है। अगर आप नए SEO को समझना चाहते हैं तो आपको Voice Search को भी ध्यान में रखकर इस पर काम करना होगा। यूजर अपने डेली लाइफ से जुड़े महत्वपूर्ण सवालों के जवाब के लिए वॉइस सर्च करना ज्यादा पसंद करते हैं जैसे कि – ‘Weather Update, How to do it, etc. 

आपको अपना कंटेंट कुछ इस तरह से भी बनाना होगा जो इस तरह के Keyword को शामिल करता हो क्यूंकि इससे भी अच्छा खासा मोबाइल ट्रैफिक आप अट्रैक्ट कर सकते हैं। और ये केवल मोबाइल तक ही सीमित नहीं है Smart TV, Home Appliances और बहुत से AI टूल्स भी वॉइस सर्च की हेल्प लेते हैं।

AMP टेक्नोलॉजी का यूज़ भी कर सकते हैं 

AMP का फुल फॉर्म है ‘एक्सेलरेटेड मोबाइल पेजेज’.  ये एक प्रकार का ओपन सोर्स प्रोजेक्ट है जिसे गूगल भी प्रमोट करता है। इसके माध्यम से Google AMP Cache मोबाइल के लिए html पेज को स्टोर कर लेता है और फिर यूजर को फ़ास्ट रिजल्ट देता है। वर्डप्रेस यूजर के लिए तो एक अलग से AMP Plugin भी आता है जो आपके पेज को बहुत फ़ास्ट लोड होने में मदद करता है। 

ध्यान देने वाली बात ये है कि अगर आपका मकसद सिर्फ मोबाइल पर कंटेंट दिखाना है तो ये बेस्ट है लेकिन अगर आप Google AdSense से Ad भी चलाते हैं तो आपके लिए बहुत ज्यादा काम का नहीं होगा। 

Mobile-First Indexing का भी ध्यान रखें 

पिछले कुछ सालों से Google ने Mobile First Indexing को बहुत सीरियसली लिया है। आइये थोड़ा समझते हैं कि ये क्या है। 

मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग का मतलब यह है कि किसी वेबसाइट का मोबाइल version वह है जिसे इंडेक्सिंग में प्रायोरिटी दी जानी चाहिए। सीधी भाषा में बात करूँ तो मोबाइल-फर्स्ट इंडेक्सिंग का मतलब है कि Google मुख्य रूप से इंडेक्सिंग और रैंकिंग के लिए कंटेंट के मोबाइल version का ही यूज़ करेगा। पहले Googlebot किसी सर्च क्वेरी के लिए पेज की रिलेवेंसी पता करने के लिए मुख्य रूप से किसी वेबसाइट के डेस्कटॉप version का उपयोग करता था, लेकिन अब ये मोबाइल वेरिएंट में शिफ्ट हो गया है।

इसलिए अगर आप अपने कंटेंट को टॉप पर रैंक करवाना चाहते हैं और फ़ास्ट इंडेक्सिंग चाहते हैं तो इसे मोबाइल फ्रेंडली बनायें। नीचे दिए गए Google Search Console इमेज में आप देख सकते हैं कि ये पेज Googlebot Smartphone ने ही इंडेक्स किये हैं।

निष्कर्ष

मोबाइल यूज़र्स के इस डिजिटल परिदृश्य में ग्रो करने के लिए Mobile Seo को समझना और उसे बेहतर करते जाना बहुत जरुरी होता जा रहा है। इस आर्टिकल में मैंने Mobile seo क्या है और कैसे करें, इसकी जानकारी आप तक पहुंचाई है। अगर आप ऊपर बताये गए पॉइंट्स को ध्यान में रखकर काम करेंगे तो आपको रिजल्ट जरूर मिलेगा। ध्यान रहे कि वेबसाइट में चेंज करने के बाद आप उसे थोड़ा टाइम जरूर दें और लगातार मोबाइल एनालिटिक्स को मॉनिटर करते रहें। 

अंत में बस इतना ही कहूंगा कि अगर आपको जानकारी पसंद आयी हो तो दूसरों को भी शेयर करें। अगर आपका कोई सुझाव है तो हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं या आप हमें नीचे दी गयी Email पर मेल भी कर सकते हैं। 

Email Id- contactgyanitota@gmail.com

धन्यवाद !

क्या मोबाइल SEO करना जरूरी है ?

एक रिसर्च में सामने आया है कि 70-80% यूजर मोबाइल पर ही सर्च करते हैं, जब यूजर पहली बार आपकी साइट पर आता है तो उसका फर्स्ट इंटरेक्शन आपकी कंपनी से नहीं उसके मोबाइल पेज से होता है इसलिए इस पर बहुत ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है।

डेस्कटॉप SEO और मोबाइल SEO में क्या अंतर है?

डेस्कटॉप SEO और मोबाइल SEO में मुख्य अंतर यही है कि डेस्कटॉप पर आप जनरल क्वेरी सर्च करते हैं और Mobile SEO में Local Area की सर्च ज्यादा होती है। लेकिन आज के समय में इसमें बदलाव आ गया है अब General Queries भी मोबाइल पर ज्यादा सर्च होने लगी हैं।

मोबाइल फ्रेंडली डिजाइन क्या है?

मोबाइल पर कंटेंट छोटा दिखाई देता है और कुछ ऑप्शन भी अलग तरीके से दिखाई देते हैं, अगर आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली है तो ज्यादा से ज्यादा यूजर इसे प्रिफर करेंगे। ऐसा नहीं होने पर यूजर आपकी वेबसाइट को बीच में ही छोड़कर चले जायँगे जिससे बाउंस रेट बढ़ता है जो कि आपके लिए नुकसान दायक है। 

Share Now:

मेरा नाम मुकेश स्वर्णकार है और मैं एक इंजीनियर हूँ। मुझे टेक्नोलॉजी, एजुकेशन, लेटेस्ट मोबाइल और गैजेट्स, ऑनलाइन पैसे कमाने के टिप्स, ऑटोमोबाइल, ट्रेंडिंग इवेंट्स आदि के लिए कंटेंट लिखने में बहुत इंटरेस्ट है। मुझे ब्लॉग लिखते हुए लगभग 6 वर्ष हो गए हैं।


1 thought on “Mobile SEO क्या है, कैसे करें? अनलिमिटेड मोबाइल ट्रैफिक लाने के 13 बेस्ट तरीके”

Leave a Comment

Vivo X100 पहला ऐसा मोबाइल जिसमें मिलेंगे ये खास फीचर्स NEXON EV का नया वैरिएंट लांच, दमदार और ज्यादा रेंज लो आ गई तमन्ना भाटिया की ये न्यू वेब सीरीज Tata Nexon के नए अवतार को देख लोग हुए दीवाने इस राखी दें अपनी प्यारी बहना को ये उपहार