Blogging kya hai: एक सफल ब्लॉगर क्या करता है

Blogging Kya hai: ब्लॉगिंग एक वेबसाइट पर कंटेंट लिखने और पब्लिश करने का काम है। यह किसी भी फॉर्म में हो सकता है जैसे आर्टिकल, वीडियो या फोटोज के रूप में। ब्लॉगर विभिन्न विषयों के बारे में कंटेंट बनाते हैं, जिसमें पर्सनल एक्सपीरियंस, राय, न्यूज़ और विभिन्न विषयों पर टिप्स और ट्रिक्स शामिल होते हैं।

बहुत से प्लेटफार्म हैं जो Blogging के लिए यूज़ किये जाते हैं। WordPress, Blogger और Tumbler जैसे ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म यूजर को ब्लॉग पोस्ट बनाने और पोस्ट करने, कमेंट करने के लिए यूज़ किये जाते हैं। ये प्लेटफॉर्म नॉर्मली फ्री हैं, लेकिन उपयोगकर्ताओं को प्रीमियम सुविधाओं या कस्टम डोमेन नामों के लिए पेमेंट करना पड़ सकता है।

ब्लॉगिंग ऑनलाइन कम्युनिकेशन और कंटेंट क्रिएशन का एक लोकप्रिय रूप बन गया है। जिसके साथ दुनिया भर में लाखों लोग डेली ब्लॉग पोस्ट बनाते और पोस्ट करते हैं। एक ब्लॉग को एक वेबसाइट या एक वेबसाइट के हिस्से के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। 

दरअसल होता ये है कि आज के समय में लाखों लोग गूगल से जानकारी प्राप्त करने के लिए उस पर सर्च करते हैं। कुछ ही सेकण्ड्स में हजारों पेज (वेबसाइट) की लिंक उनके सामने ओपन हो जाती है। हर एक वेबसाइट अपने तरीके से जानकारी प्रदान करती है। जिसका कंटेंट सबसे अच्छा होता है उसे गूगल पहले नंबर पर रैंक कराता है। 

इन्हीं पेज या वेबसाइट को ब्लॉग कहा जाता है जहाँ हर तरह की जानकारी उपलब्ध रहती है। 

ब्लॉगिंग का उपयोग किन किन जगह होता है (Blogging Purpose)

ऐसी बहुत सी जगह हैं जहाँ Blogging की जा सकती है, उनमे से कुछ प्रमुख यहाँ बतायी जा रही हैं। 

पर्सनल एक्सप्रेशन: बहुत से लोग ब्लॉगिंग को अपने मन की बात बताने के लिए एक प्लेटफार्म के रूप में उपयोग करते हैं, अपने विचारों और एक्सपीरियंस को दूसरों के साथ शेयर करते हैं।

बिज़नेस प्रमोशन: बिज़नेस के लिए अपने प्रोडक्ट्स या सर्विसेज को प्रमोट करने, अपने काम में अथॉरिटी स्थापित करने और अपने ऑडियंस के साथ जुड़ने के लिए ब्लॉगिंग भी एक उपयोगी माध्यम हो सकता है।

एजुकेशनल: एजुकेशनल ब्लॉगर ऐसा कंटेंट बनाते हैं जिसका उद्देश्य पाठकों को विभिन्न विषयों पर पढ़ाना और सूचित करना होता है।

पत्रकारिता (Journalism): कई पत्रकार न्यूज़ और एनालिसिस शेयर करने के लिए एक पप्लेटफार्म के रूप में ब्लॉगिंग का उपयोग करते हैं, वर्तमान घटनाओं पर अधिक व्यक्तिगत और अनौपचारिक रूप से प्रस्तुत करते हैं।

ब्लॉग के प्रकार (Types of Blog) 

Blogging kya hai

कई अलग-अलग प्रकार के ब्लॉग हैं, जिनमें पर्सनल ब्लॉग, बिज़नेस ब्लॉग, न्यूज़ ब्लॉग और niche ब्लॉग शामिल हैं। प्रत्येक प्रकार का ब्लॉग एक अलग उद्देश्य से लिखा जाता है। इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के विभिन्न लक्ष्यों और उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है।

पर्सनल ब्लॉग: ये ब्लॉग जनरली ऐसे व्यक्तियों द्वारा लिखे जाते हैं जो अपने आईडिया, राय और एक्सपीरियंस दूसरों के साथ शेयर करना चाहते हैं। ये ब्लॉग अक्सर किसी स्पेसिफिक विषय या थीम पर ध्यान केंद्रित करते हैं, जैसे ट्रेवलिंग, फ़ूड, फैशन, या पेरेंटिंग, और एक जैसे इंटरेस्ट को शेयर करने वाले अन्य लोगों से जुड़ने का एक शानदार तरीका हो सकता है।

बिज़नेस ब्लॉग: ये ब्लॉग कंपनियों या आर्गेनाईजेशन द्वारा अपने प्रोडक्ट या सर्विसेज को बढ़ावा देने, अपना ब्रांड स्थापित करने और अपने ग्राहकों और टारगेट ऑडियंस के साथ जुड़ने के लिए बनाए जाते हैं। ये ब्लॉग कस्टमर्स को वैल्युएबल जानकारी और इनसाइट्स प्रदान करने के साथ-साथ लीड जनरेट करने और ब्रांड अवेयरनेस बढ़ाने का एक शानदार तरीका हो सकते हैं।

न्यूज़ ब्लॉग: ये ब्लॉग आम तौर पर पत्रकारों या न्यूज़ एजेंसी द्वारा ब्रेकिंग न्यूज़, एनालिसिस और करंट इवेंट्स पर कमेंट्री शेयर करने के लिए बनाए जाते हैं। ये ब्लॉग लेटेस्ट समाचारों और ट्रेंड के साथ-साथ काम्प्लेक्स इश्यूज और विषयों की गहरी समझ हासिल करने के लिए अप-टू-डेट रहने का एक शानदार तरीका हो सकते हैं।

Niche ब्लॉग: उन व्यक्तियों द्वारा बनाए जाते हैं जो किसी विशेष विषय के बारे में पैशनेट होते हैं, और अपने ज्ञान और विशेषज्ञता को दूसरों के साथ शेयर करना चाहते हैं जो उसी चीज़ में रुचि रखते हैं। ये ब्लॉग गार्डनिंग और DIY से लेकर फिटनेस और नूट्रिशन तक कई विषयों को कवर कर सकते हैं।

कैसे काम करता है AI, क्या uses हैं। जानिये आसान शब्दों में

ब्लॉगिंग में सफल होना है तो इन बातों का ध्यान रखें 

Blogging kya hai ये जान लेना ही जरुरी नहीं होता, आपका ब्लॉग सफल हो इसके लिए बहुत सी बातें जरुरी होती हैं। मैं टेक्निकल बातों की जानकारी आपको दूसरे ब्लॉग में दूंगा लेकिन अभी में आपको सिर्फ समझाने की कोशिश करता हूँ कि किस तरह का ब्लॉग जल्दी सफल हो सकता है। हालाँकि इनके अलावा भी बहुत सी बातों का ध्यान रखना होता है जो मैं आपको धीरे धीरे बताते जाऊंगा। आइये जानते हैं कि एक सफल ब्लॉगर कैसे बने –

क्वालिटी कंटेंट

किसी भी ब्लॉग का सबसे महत्वपूर्ण एलिमेंट उसके कंटेंट की क्वालिटी है। आपके ब्लॉग पोस्ट अच्छी तरह से लिखे गए, इन्फोर्मटिव और एंगेजिंग होने चाहिए। इसका मतलब यही कि आप अपने ब्लॉग से जो भी जानकारी दे रहे हैं वो पढ़ने वाले के काम की होनी चाहिए। साथ ही कुछ इस तरह से आपको लिखना होगा कि लोग उसे पूरा पढ़ने के लिए उत्सुक हों। 

यूनिक कंटेंट 

एक ब्लॉगर को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि उसके द्वारा लिखा गया कंटेन पूरी तरह से यूनिक हो। दूसरी बात यह कि कंटेंट को किसी दूसरी वेबसाइट से कॉपी पेस्ट कर कर रहा है तो उसको ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए क्योंकि गूगल इस तरह की जानकारी को अपनी टॉप रैंक में कभी भी लेकर नहीं आता है। ध्यान रहे कि आप इस तरह के कंटेंट को लिखें जिसे यूजर पढ़ना ज्यादा पसंद करते हैं ना कि उसे जिसे आप ज्यादा पसंद करते हैं। 

SEO प्रैक्टिस करें

एक सफल Blogger बनने के लिए SEO करना सीखें। SEO ही है जो आपके ब्लॉग को Google Search में टॉप पर ला सकता है। आपका कंटेंट अगर सर्च रिजल्ट में टॉप पर रैंक करने लग जायेगा, तो उससे अच्छा ट्रैफिक आपको मिलेगा और google adsense से आप पैसे भी कमा पाएंगे। SEO अपने आप में बहुत बड़ी प्रोसेस है जैसे जैसे आप करते जायेंगे आपको समझ आता जायेगा।

धैर्य रखें 

ये वो पॉइंट है जो शायद आपको हर कोई नहीं बताएगा। ब्लॉगिंग में सफल होने के लिए सबसे ज्यादा जरुरी है कि आप धैर्य बनाये रखें। एक ब्लॉग को शुरू करने से लेकर अच्छी रनिंग कंडीशन में लाने के लिए 6 महीने से 2 साल तक का समय लग सकता है। इस बीच में आपको कई बार लगेगा की कुछ नहीं हो रहा, रहने देते हैं। लेकिन आपको हमेशा धैर्य से काम लेना है और आगे बढ़ते रहना है। तभी आप एक अच्छा ब्लॉग बना सकेंगे। 

रूचि होने पर ही इस फील्ड में आएं 

कई बार कोई व्यक्ति सिर्फ ये सोचकर ब्लॉगिंग करने लग जाता है कि दूसरे भी इससे पैसे कमा रहे हैं तो मैं भी कमा लेता हूँ। लेकिन ध्यान दें आपको अगर इस काम को करने में इंटरेस्ट नहीं है तो आप ज्यादा समय तक इसे नहीं कर पाएंगे। और फिर हताश होकर बैठ जायेंगे। इसलिए अगर आपकी किसी विषय विशेष में कंटेंट लिखने की रूचि हो तभी इस फील्ड को अपना करियर बनाएं। 

शुरुआत में सिंगल Niche 

बहुत से नए ब्लॉगर गलती कर देते हैं कि वह अपना एक नया ब्लॉग लिखते हैं और उसमें हर तरह की जानकारी डालना शुरू कर देते हैं। जैसे स्पोर्ट्स रिलेटेड, टेक्नोलॉजी से रिलेटेड, न्यूज़ से रिलेटेड तो ऐसा करने की बजाए शुरुआत में आप किसी सिंगल niche को फोकस करें और उसके अकॉर्डिंग ही पूरा कंटेंट लिखें क्योंकि गूगल इस चीज को बहुत अच्छे से ध्यान देता है। 

Also Read: 10 दिन में टाइपिंग स्पीड कैसे बढ़ाये

अगर आप एक ही niche पर काम करेंगे तो गूगल आपकी पोस्ट को बहुत जल्दी रैंक करा देगा और इसका फायदा यह होगा कि आपके ब्लॉग पर बहुत ज्यादा व्यूज आने लगेंगे और अगर आप बीच में अपनी निस बदल देते हैं तो हो सकता है आपके ब्लॉक का ट्रैफिक एकदम से कम हो जाए। 

कंसिस्टेंसी 

अपने ब्लॉग के लिए ऑडियंस बनाना और बनाए रखना दोनों ही महत्वपूर्ण चीज़ें हैं। अगर आपने एक बार अच्छा कंटेंट लिखा और आपके ब्लॉग को ज्यादा लोगों ने पढ़ा तो ये अच्छी बात है। लेकिन फिर अगर अपने बहुत समय तक कंटेंट नहीं डाला तो दिक्क्त हो सकती है। इसलिए आप एक टाइम टेबल बनाएं और उसी के अनुसार रेगुलर पोस्ट करें। क्युकी आपके दर्शक उस टाइम के लिए इंतज़ार करते हैं जब आप अपने समयनुसार पोस्ट करते हैं। 

एंगेजमेंट 

एक लम्बे समय तक और एंगेज्ड ऑडियंस बनाने के लिए, अपने रीडर्स के साथ जुड़ना और उनके कमेंट और फीडबैक का जवाब देना महत्वपूर्ण है। अगर आप लगातार ऐसा करते हैं तो आपका कंटेंट ज्यादा लोगों तक पहुंचेगा। और जब आप उनके प्रश्नों का उत्तर देंगे तो वो आपके ब्लॉग की माउथ पब्लिसिटी करने से पीछे  नहीं हटेंगे जिससे आपको बहुत फायदा होगा। 

प्रमोशन: अपने ब्लॉग पर नए पाठकों को अट्रैक्ट करने के लिए, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और अन्य ऑनलाइन चैनलों पर अपने कंटेंट का प्रचार करना महत्वपूर्ण है। यह आपकी विजिबिलिटी और रीच बढ़ाने में मदद कर सकता है, और नए पाठकों को आकर्षित करने में मदद कर सकता है जो आपके कंटेंट में रुचि रखते हैं।

ब्लॉगिंग से जुड़ी कुछ जरूरी परिभाषाएं

ब्लॉग – एक वेबसाइट/ऑनलाइन डायरी जिसे इंटरनेट पर पढ़ने के लिए उपलब्ध कराया जाता है। 

ब्लॉग पोस्ट – ये एक प्रकार का आर्टिकल/पोस्ट/नोट होता है जो इंटरनेट पर उपलबध रहता है, जिसे कोई भी कहीं भी कभी भी पढ़ सकता है।(इंटरनेट होना अनिवार्य है) 

ब्लॉगर  – जो व्यक्ति ब्लॉग पोस्ट लिखता है और समय समय पर पोस्ट करता है उसे ब्लॉगर कहते हैं। अन्य शब्दों में यही ब्लॉग का मालिक भी होता है। 

निष्कर्ष

ब्लॉगिंग ऑनलाइन कम्युनिकेशन का सबसे अच्छा और इफेक्टिव रूप है जिसका उपयोग विभिन्न उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है। चाहे आप अपने व्यक्तिगत अनुभव शेयर करना चाहते हों, अपने बिज़नेस को प्रमोट करना चाहते हों, या अपने दर्शकों को जरुरी जानकारी प्रदान करना चाहते हों, ब्लॉगिंग आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने और सार्थक तरीके से दूसरों से कनेक्ट होने का एक शानदार तरीका हो सकता है।

आज हमने blogging kya hai इस बारे में आपको जानकारी दी। ब्लॉग से जुडी किसी भी तरह की जानकारी के लिए आप हमें कमेंट के माध्यम से बताएं। ब्लॉगिंग से जुड़े किसी भी तरह के प्रश्नों आप इस पोस्ट पर पूछ सकते हैं। हम आपको मदद के लिए हमेशा तैयार रहेंगे। 

इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें धन्यवाद।

ब्लॉगिंग से कितने पैसे कमाए जा सकते हैं?

ये पूरी तरह से आपके हार्डवर्क पर निर्भर करता है की आप ब्लॉग से कितना कमा सकते हैं। हिंदी ब्लॉग पर CPC(cost per click) बहुत कम होता है इसलिए इंग्लिश ब्लॉग की तुलना में यहाँ कमाई थोड़ी कम होती है। 
अगर आप डेली 1-2 आर्टिकल पोस्ट कर रहे हैं तो एक हिंदी ब्लॉगर महीने के 30000 – 60000 आसानी से कमा सकता है। (ध्यान रहे कि earning के लिए आपकी वेबसाइट पर Google Adsense का अप्रूवल होना चाहिए )

क्या फ्री में ब्लॉगिंग करना सीखा जा सकता है?

हाँ, ऐसे बहुत से ब्लॉग/यूट्यूब चैनल हैं जो आपको ब्लॉग से जुडी जरुरी जानकारी फ्री में उपलब्ध कराते हैं। आप उनसे ब्लॉगिंग करना सीख सकते हैं।

Posts

Stories

Share Now:

मेरा नाम मुकेश स्वर्णकार है और मैं एक इंजीनियर हूँ। मुझे टेक्नोलॉजी, एजुकेशन, लेटेस्ट मोबाइल और गैजेट्स, ऑनलाइन पैसे कमाने के टिप्स, ऑटोमोबाइल, ट्रेंडिंग इवेंट्स आदि के लिए कंटेंट लिखने में बहुत इंटरेस्ट है। मुझे ब्लॉग लिखते हुए लगभग 6 वर्ष हो गए हैं।


2 thoughts on “Blogging kya hai: एक सफल ब्लॉगर क्या करता है”

Leave a Comment

Vivo X100 पहला ऐसा मोबाइल जिसमें मिलेंगे ये खास फीचर्स NEXON EV का नया वैरिएंट लांच, दमदार और ज्यादा रेंज लो आ गई तमन्ना भाटिया की ये न्यू वेब सीरीज Tata Nexon के नए अवतार को देख लोग हुए दीवाने इस राखी दें अपनी प्यारी बहना को ये उपहार