Whatsapp के 2 नए फीचर: यूजर्स को मिलेगा ‘View Once’ फीचर, इसमें मैसेज रीड करने के बाद हो जाएगा गायब; फोटो-वीडियो भी एक बार ही देख पाएंगे

whatsapp, messenger, media

Whatsapp ने भारत सरकार द्वारा लागू किए गए नए I.T. नियमों को मान लिया है। हालांकि, कंपनी पहले ही सारी बातें साफ़ कर चुकी है कि वो अपनी नई पॉलिसी के रिमाइंडर लगातार यूजर्स को भेजती रहेगी। इस बीच फेसबुक के CEO मार्क जुकरबर्ग और Whatsapp Head विल कैथकार्ट ने इसमें नए फीचर्स को launch करने की घोषणा की है। कंपनी ने साफ किया है इसमें Disappearing Mode दिया जाएगा।

वॉट्सऐप में Disappearing Feature तो कंपनी 7 महीने पहले ही दे चुकी है। हालांकि, अभी ये फीचर अलग-अलग कॉन्टैक्ट या ग्रुप में काम करता है। ऐसे में अब कंपनी इसका single user मोड देगी। जिसे ऑन करने के बाद सभी Chat पर ये फीचर एक साथ काम करेगा।

Disappear फीचर का फायदा:-

इस फीचर का सबसे बड़ा फायदा Group Chat के दौरान मिलेगा। जिन ग्रुप में लंबी और लगातार चैट होती है उसमें मैसेज की संख्या भी लगातार बढ़ती रहती है। ग्रुप चैट को यूजर भी डिलीट नहीं करता है। ऐसे में कई बार जब हम चैट डिलीट नहीं करते हैं तब Whatsapp hang होने लगता है। ज्यादा मैसेज की मीडिया फाइल की वजह से फोन भी स्लो हो जाता है।

Disappear Feature को apply कैसे करें:-
  • आप जिस इंडिविजुअल या ग्रुप चैट पर इस फीचर को अप्लाई करना चाहते हैं उसे open कर लें
  • अब चैट के प्रोफाइल पर या फिर कॉन्टैक्ट या ग्रुप के नाम पर टैप करें
  • यहां आपको Disappearing Messages का ऑप्शन नजर आएगा, इस पर टैप करें
  • यहां टैप करते ही Continue का prompt आएगा, इस पर फिर से टैप कर लें
  • अब उस कॉन्टैक्ट या ग्रुप के लिए ये Feature On हो जाएगा, जिसका मैसेज चैट बॉक्स में नजर आएगा
‘View Once’ फीचर भी होगा रोल आउट:-

मार्क जुकरबर्ग ने कहा है कि वॉट्सऐप में ‘View Once’ का फीचर मिलेगा। इस नए फीचर की मदद से जब यूजर किसी मैसेज को Read कर लेगा तो वो Disappear हो जाएगा। इस फीचर को Enable करने के बाद मैसेज मिलने वाला यूजर केवल एक बार भेजी गई Photo और Video Open कर पाएगा, क्योंकि बाद में ये गायब हो जाएंगे।

अब Whatsapp पर शिकायत करने का option भी मिलेगा:-

Whatsapp के blog के मुताबिक, भारतीय यूजर्स वॉट्सऐप की शर्तों, पेमेंट और अपने दूसरे सवालों को लेकर कंपनी के ग्रीवांस ऑफिसर से शिकायत कर सकते हैं। इसके लिए इस प्रोसेस को फॉलो करें…

Settings > Help > Contact Us Settings > Payments > Help Settings > Payments > Payments History > Transaction Details > Help, या payment message > Transaction Details, या 1800-212-8552 नंबर पर कॉल करें (7:00AM से 8:00PM तक)

आप official वेबसाइट पर जाकर भी blog बढ़ सकते हैं:- https://blog.whatsapp.com/

Whatsapp Spokesperson ने क्या कहा?

Whatsapp के प्रवक्ता ने एक ईमेल बयान में कहा, “हम दोहराते हैं कि हम पहले ही भारत सरकार को जवाब दे चुके हैं और उन्हें आश्वासन दिया है कि उपयोगकर्ताओं की Privacy हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।”

इस साल की शुरुआत में एक बहस छिड़ गई थी जब Whatsapp ने कहा था कि वह अपनी सेवा की शर्तों और गोपनीयता नीति (Privacy Policy) को अपडेट करेगा कि यह कैसे सोशल मीडिया दिग्गज के उत्पादों में एकीकरण की पेशकश करने के लिए फेसबुक के साथ उपयोगकर्ता डेटा और भागीदारों को संसाधित करता है।

Facebook own Company ने जोर देकर कहा है कि उसकी Privacy Policy आने वाले हफ्तों में Whatsapp के काम करने की कार्यक्षमता को सीमित नहीं करेगी।

Spokesperson ने कहा, “इसके बजाय, हम समय-समय पर users को अपडेट के बारे में याद दिलाते रहेंगे और साथ ही जब लोग Relevant Optional Features का उपयोग करना चुनते हैं, जैसे कि फेसबुक से समर्थन प्राप्त करने वाले व्यवसाय के साथ संचार करना।”

Spokesperson ने आगे उल्लेख किया कि अपडेट लोगों के व्यक्तिगत संदेशों की Privacy को नहीं बदलता है और इसका उद्देश्य अतिरिक्त जानकारी प्रदान करना है।

“हमें उम्मीद है कि यह दृष्टिकोण उस विकल्प को मजबूत करता है जो सभी उपयोगकर्ताओं के पास है कि वे किसी व्यवसाय के साथ बातचीत करना चाहते हैं या नहीं। हम कम से कम आगामी PDP कानून लागू होने तक इस दृष्टिकोण को बनाए रखेंगे, ”प्रवक्ता ने कहा।

Whatsapp द्वारा अपने ग्राहकों पर Notification की अधिकता को “चाल की सहमति (Trick Consent)” प्राप्त करने के लिए एक “उपयोगकर्ता-विरोधी अभ्यास” के रूप में करार देते हुए, केंद्र सरकार ने गुरुवार को अदालत से मैसेजिंग प्लेटफॉर्म को अपने मौजूदा उपयोगकर्ताओं पर नए के संबंध में सूचनाएं भेजने से रोकने का निर्देश देने का आग्रह किया।

भारत सरकार के नए नियम क्या हैं ?

  • भारत की संप्रभुता, राज्य की सुरक्षा, या सार्वजनिक व्यवस्था को कमजोर करने वाली जानकारी के “प्रथम प्रवर्तक” की पहचान को सक्षम करने के लिए नियमों में महत्वपूर्ण सोशल मीडिया मध्यस्थों की भी आवश्यकता होती है – मुख्य रूप से संदेश भेजने की प्रकृति में सेवाएं प्रदान करना। ट्विटर और व्हाट्सएप जैसे खिलाड़ियों के लिए इसका बड़ा असर हो सकता है।
  • नए I.T. Rules में एक शिकायत अधिकारी, नोडल अधिकारी और एक मुख्य अनुपालन अधिकारी नियुक्त करने के लिए महत्वपूर्ण सोशल मीडिया मध्यस्थों की आवश्यकता होती है – जिनके पास अन्य 50 लाख उपयोगकर्ता हैं। इन कर्मियों का भारत में निवासी होना आवश्यक है।
  • नए नियमों के तहत, सोशल मीडिया कंपनियों को 36 घंटे के भीतर फ़्लैग की गई सामग्री को हटाना होगा, और 24 घंटों के भीतर नग्नता (Nudity, Pornography) आदि के लिए फ़्लैग की गई सामग्री को हटाना होगा। केंद्र ने कहा था कि नए नियम प्लेटफ़ॉर्म के दुरुपयोग और दुरुपयोग को रोकने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं और उपयोगकर्ताओं को शिकायत निवारण के लिए एक मजबूत मंच प्रदान करते हैं।
  • नियमों का पालन न करने के परिणामस्वरूप इन प्लेटफार्मों को अपनी मध्यस्थ स्थिति खोनी होगी जो उन्हें उनके द्वारा होस्ट किए गए किसी भी Third Party के डेटा पर देनदारियों से प्रतिरक्षा प्रदान करती है। दूसरे शब्दों में, वे शिकायतों के मामले में आपराधिक कार्रवाई के लिए उत्तरदायी हो सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *