क्या आप भी खड़े होकर पानी पीते हैं तो आज से ही बंद कर दीजिये, होते हैं ये नुकसान

human, children, girl-771601.jpg

प्यास बुझाने के लिए पानी से अच्छा कोई विकल्प हमारे पास नहीं है। यह हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है। इसके बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। पानी पीना लगभग हर बीमारी का इलाज माना जाता है। यह न केवल हमारे शरीर में मौजूद गंदगी को साफ करता है, बल्कि हमारे शरीर को दिनभर तरोताजा रखने में भी बहुत मदद करता है। डॉक्टर अच्छी सेहत के लिए दिनभर में कम से कम 8-10 गिलास पानी पीने की सलाह देते हैं। लेकिन हम दिनभर में कितना पानी पीते हैं, सिर्फ ये ही हमारे लिए काफी नहीं है, बल्कि हम पानी कैसे पीते हैं, ये जानना बहुत जरूरी है।

ज्यादातर लोगों को खड़े होकर पानी पीने की आदत होती है। जल्दबाजी में कई बार खड़े-खड़े ही पानी पी लेना या बोतल से पानी पी लेना बहुत आम बात है। अगर आप भी ऐसा करते हैं, तो अभी संभल जाइए। क्योंकि खड़े होकर पानी पीने से जाने-अनजाने में हम कई बीमारियों को न्यौता दे रहे हैं। इस स्थिति में पानी पीना सेहत के लिए बहुत नुकसानदायक होता है। खासतौर से लिवर और किडनी पर बहुत बुरा असर पड़ता है।

पानी को जीवन कहें तो काम नहीं होगा। पानी के बगैर हम लोग जीवित नहीं रह सकते ये सब जानते हैं। पानी पीना शरीर के लिए महत्‍वपूर्ण होता है। लेकिन पानी हमेशा बैठकर ही पीना चाहिए। क्या आप खड़े होकर पानी पीते हैं? यदि इसका जवाब हां है तो वक्त के पहले सतर्क हो जाइये। क्योंकि इस तरह पानी पीना आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। आज के तनावपूर्ण जीवन में कई लोग ऑफिस में हों या घर पर खड़े होकर पानी पीते हैं। अपने स्वास्थ के लिए यह आदत अच्छी नहीं है। खड़े होकर पानी पीने के क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं आइये जानते हैं:-

ऑक्सीजन की सप्लाई थोड़े टाइम के लिए रुक जाती है:-

जब भी आप खड़े होकर पानी पीते हैं, तो जरूरी पोषण नहीं मिल पता। खड़े होकर पानी पीने से फूड और विंड पाइप में होने वाली ऑक्सीजन की सप्लाई थोड़े समय के लिए रुक जाती है। जिसका असर न केवल फेफड़ों पर बल्कि दिल पर भी पड़ता है। इसके अलावा खड़े होकर पानी पिया जाए, तो पानी की अधिक मात्रा के कारण पेट के निचले हिस्से की दीवारों पर प्रेशर बनता है, जिससे पेट के आसपास के अंगों को बहुत नुकसान पहुंच सकता है। इस बुरी आदत के चलते कई लोगों को हर्निया का शिकार भी होना पड़ता है।

तनाव को बढ़ा सकता है:-

इस बात पर हो सकता है कि आपको यकीन न हो, लेकिन आपके तनाव बढ़ने की एक वजह आपका खड़े होकर पानी पीने की आदत है। दरअसल, खड़े होकर पानी पीया जाए, तो इसका सीधा असर तंत्रिका तंत्र (Nervous System) पर पड़ता है। इस तरह से पानी पीने से पोषक तत्व पूरी तरह से बेकार हो जाते हैं और शरीर को तनाव का सामना करना पड़ता है।

जोड़ों में दर्द की शुरुआत हो सकती है:-

आपने कई बार बड़े बूढ़ों को कहते सुना होगा कि खड़े होकर पानी पीने से घुटनों में दर्द होता है। यह बात बिलकुल सही है। इस आदत के चलते घुटनों पर दबाव पड़ने लगता है, जिससे आर्थराइटिस की समस्या हो सकती है।

गठिया (जोड़ों का दर्द)/(आर्थरायटिस) का कारण बन सकता है:-

इस आदत के चलते पानी का बहाव तेजी से आपके शरीर में होता है जो जोड़ों में जमा हो जाता है। जिसके बदले में हड्डियों और जोड़ों को खतरे में डाल सकता है। हड्डियों के जोड़ वाले हिस्से में तरल पदार्थ की कमी की वजह से जोड़ों में दर्द के साथ हड्डियां कमजोर होना शुरू हो जाती हैं। कमजोर हड्डियों के चलते व्यक्ति गठिया जैसी बीमारी से पीड़ित भी हो सकता है।

किडनी पर असर डालता है:-

जब कोई व्यक्ति खड़े होकर पानी पीता है, तो पानी बिना फिल्टर हुए सीधे निचले पेट की तरफ तेजी से बढ़ता है। किडनी का काम पानी को सही ढंग से छानना होता है। जब खड़े होकर पानी पीते हैं तो ये अपना कार्य ठीक तरह से नहीं कर पाती है। यह पानी में जमा अशुद्धियों को पित्ताशय में जमा कर देता है, जो किडनी के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है। खड़े होकर पानी पीने से तेजी से पानी फूड पाइप द्वारा पेट में जाता है।  ये आसपास के अंगों और पेट को नुकसान पहुंचाता है।  पाचन क्रिया को बिगाड़ता है।

प्यास नहीं बुझती है:-

अगर आप खड़े होकर एक गिलास पानी भी पी लें, तो आपका पेट तो भर जाएगा, लेकिन प्यास नहीं बुझेगी। इसलिए प्यास बुझानी है, तो बैठकर घूँट घूँट ही पानी पीना चाहिए।

अपच की समस्या हो सकती है:-

जब हम बैठे होते हैं तो मसल्स और नर्वस सिस्टम रिलैक्स होती हैं और पानी आसानी से पच जाता है। जबकि खड़े होकर पानी पीने से अपच की समस्या पैदा होती है। इसलिए कभी भी खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए। 

शरीर में एसिड का स्तर कम नहींं होता:-

पानी कभी भी खड़े होकर या जल्दी में पीना नहीं चाहिए। पानी शांत बैठकर पीना चाहिए। ऐसा करने से शरीर में एसिड का स्तर ठीक रहता है। खड़े होकर पानी पीने से शरीर में एसिड का स्तर कम नहीं होता।

अल्सर की प्रॉब्लम हो सकती है:-

खड़े होकर पानी पीने से एसोफेगस (खाने की नाली) नली के निचले हिस्से पर बुरा असर पड़ने लगता है। ऐसे में अल्सर की प्रॉब्लम का खतरा बढ़ सकता है।

खाली पेट पानी पीने के फायदे:-https://gyanitota.com/blog-healt/

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: copy क्यों कर रहे हो?
Scroll to Top